27.7 C
Meerut
Friday, September 24, 2021
Home शहर और राज्य रंगदारी के आरोपी फर्जी पत्रकार पुलिस की दबिश के बाद हुए फरार

रंगदारी के आरोपी फर्जी पत्रकार पुलिस की दबिश के बाद हुए फरार

सहारनपुर : रंगदारी के आरोपी पुलिस की दबिश के बाद हुए फरार

– थाना जनकपुरी क्षेत्र के रहने वाले हैं दोनों भाई साजिद सलमानी, ख़ालिद सलमानी
– कभी फ़र्ज़ी पत्रकार तो कभी फ़र्ज़ी प्राधिकरण कर्मी बन करते हैं अवैध वसूली

सहारनपुर। सहारनपुर विकास प्राधिकरण के फ़र्ज़ी कर्मचारी बनकर लोगों से अवैध वसूली करने वाले दो सगे भाई पुलिस की दबिश के बाद फरार हैं। दोनों भाईयों के खिलाफ पीड़ित द्वारा थाना कुतुबशेर में रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज कराया गया है।
थाना कुतुबशेर क्षेत्र निवासी पीड़ित सफीर अहमद अपने पुराने मकान में मरम्मत का कार्य करवा रहे थे। आरोप है कि थाना जनकपुरी क्षेत्र के मंदिर वाली गली के रहने वाले दो भाई साजिद सलमानी और ख़ालिद सलमानी विकास प्राधिकरण के जेई और क्लर्क बनकर उनसे अवैध वसूली कर रहे थे। सच्चाई का पता लगने पर उक्त दोनों भाई पीड़ित को जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से फरार हो गए थे। पीड़ित द्वारा शिकायत करने पर दोनों ब्लैकमेलर भाइयों साजिद सलमानी एवं ख़ालिद सलमानी के विरुद्ध रंगदारी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के लिए की गई छापेमारी के बाद दोनों भाई फरार हैं।
आपको बता दें कि साजिद सलमानी और ख़ालिद सलमानी की तीन वर्ष पूर्व खानआलमपुरा में नाई की दुकान थी। इसके बाद इन दोनों भाइयों ने सूचना अधिकार नियम और आईजीआरएस का दुरुपयोग कर सरकारी विभागों में ब्लैकमेलिंग का धंधा शुरु कर दिया। अकेले एसडीए में ही ख़ालिद सलमानी द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यों की 600 सूचनाएं और शिकायतें की गई हैं। पूर्व मंडलायुक्त संजय कुमार द्वारा इन दोनों भाइयों के विरुद्ध जांच के लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया था। फिलहाल उक्त दोनों भाइयों को पकड़ने के लिए कुतुबशेर थाने का भारी पुलिस बल इनके घर पहुंचा था लेकिन भनक लगते ही यह दोनों मौके से फरार हो गए।*रंगदारी के आरोपी पुलिस की दबिश के बाद हुए फरार* *- थाना जनकपुरी क्षेत्र के रहने वाले हैं दोनों भाई साजिद सलमानी, ख़ालिद सलमानी* *- कभी फ़र्ज़ी पत्रकार तो कभी फ़र्ज़ी प्राधिकरण कर्मी बन करते हैं अवैध वसूली* सहारनपुर। सहारनपुर विकास प्राधिकरण के फ़र्ज़ी कर्मचारी बनकर लोगों से अवैध वसूली करने वाले दो सगे भाई पुलिस की दबिश के बाद फरार हैं। दोनों भाईयों के खिलाफ पीड़ित द्वारा थाना कुतुबशेर में रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। थाना कुतुबशेर क्षेत्र निवासी पीड़ित सफीर अहमद अपने पुराने मकान में मरम्मत का कार्य करवा रहे थे। आरोप है कि थाना जनकपुरी क्षेत्र के मंदिर वाली गली के रहने वाले दो भाई साजिद सलमानी और ख़ालिद सलमानी विकास प्राधिकरण के जेई और क्लर्क बनकर उनसे अवैध वसूली कर रहे थे। सच्चाई का पता लगने पर उक्त दोनों भाई पीड़ित को जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से फरार हो गए थे। पीड़ित द्वारा शिकायत करने पर दोनों ब्लैकमेलर भाइयों साजिद सलमानी एवं ख़ालिद सलमानी के विरुद्ध रंगदारी की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के लिए की गई छापेमारी के बाद दोनों भाई फरार हैं। आपको बता दें कि साजिद सलमानी और ख़ालिद सलमानी की तीन वर्ष पूर्व खानआलमपुरा में नाई की दुकान थी। इसके बाद इन दोनों भाइयों ने सूचना अधिकार नियम और आईजीआरएस का दुरुपयोग कर सरकारी विभागों में ब्लैकमेलिंग का धंधा शुरु कर दिया। अकेले एसडीए में ही ख़ालिद सलमानी द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यों की 600 सूचनाएं और शिकायतें की गई हैं। पूर्व मंडलायुक्त संजय कुमार द्वारा इन दोनों भाइयों के विरुद्ध जांच के लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया था। फिलहाल उक्त दोनों भाइयों को पकड़ने के लिए कुतुबशेर थाने का भारी पुलिस बल इनके घर पहुंचा था लेकिन भनक लगते ही यह दोनों मौके से फरार हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर ओम प्रकाश चौटाला ने एचडी देवगौड़ा एवं मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा एवं उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

BJP के खिलाफ कांग्रेस का गद्दी छोड़ो अभियान, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा- ट्रस्ट के साथ मिलकर सरकार ने अयोध्या में की चंदा चोरी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले प्रदर्शन और नारेबाजी का दौर शुरू हो गया है। खुद को फिर देश के सबसे...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू कर दिया...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू...

धनबाद जज हत्या मामला, सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।

धनबाद एडिशनल सेशन जज की कथित हत्या का मामला। सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग...

Recent Comments