12.1 C
Meerut
Friday, January 21, 2022
Home शहर और राज्य तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ भारी मात्रा में अवैध असला बरामद

तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ भारी मात्रा में अवैध असला बरामद

शामली : पंचायत चुनाव से पहले शामली पुलिस को एक महत्वपूर्ण सफलता हाथ लगी है जहां पर पुलिस ने एक तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री के संचालक महबूब को भी गिरफ्तार किया है जबकि उसका एक अन्य साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया पुलिस ने फैक्ट्री से 14 तमंचे बने हुए 8 अद्व ने 11 नाल छोटी सी नाल बड़ी वह तमंचा बनाने के उपकरण जैसे आरी प्लास पेचकस वेल्डिंग मशीन आदि उपकरण भी बरामद किए हैं बताया जा रहा है कि हथियारों की है के पंचायत चुनाव से पहले ऑर्डर पर तैयार की जा रही थी।

दरअसल आपको बता दें कि पूरा मामला जनपद शामली की सदर कोतवाली का है जहां पर कोतवाली पुलिस ने लीन ऑन 8 मार्ग पर एक पल में चल रही तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है जहां से पुलिस ने 14th मन के बनाए हुए 8 तमंचे आज बने 11 नाम छोटी थी बड़ी वह तमंचा बनाने के उपकरण जैसे आरी प्लास पेचकस वेल्डिंग मशीन आदि उपकरण भी बरामद किए हैं कोतवाली पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री के संचालक महबूब को मौके से गिरफ्तार किया है जबकि उसका एक अन्य साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। बताया जा रहा है कि तमंचा बनाने का यह काम काफी दिनों से वहां पर चल रहा था जिसके बाद पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी की और तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ बताया जा रहा है कि तमंचा की है खेत आर्डर पर तैयार की जा रही थी और इसके से पंचायत चुनाव में आतंक फैलाने की साजिश थी। पुलिस पूरे प्रकरण की गहनता से जांच कर रही है। साथ ही यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किसके आर्डर पर इतनी भारी मात्रा में तमंचे बनाए जा रहे थे और फैक्ट्री से तमंचे बनाने के बाद कौन-कौन लोग इसकी सप्लाई करते थे। बताया जा रहा है कि तमंचा तैयार होने के बाद बाजार में 4500 से 6000 रुपए तक में बेचा जाता है। पंचायत चुनाव से पहले शामली पुलिस को एक महत्वपूर्ण सफलता हाथ लगी है जहां पर पुलिस ने एक तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री के संचालक महबूब को भी गिरफ्तार किया है जबकि उसका एक अन्य साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया पुलिस ने फैक्ट्री से 14 तमंचे बने हुए 8 अद्व ने 11 नाल छोटी सी नाल बड़ी वह तमंचा बनाने के उपकरण जैसे आरी प्लास पेचकस वेल्डिंग मशीन आदि उपकरण भी बरामद किए हैं बताया जा रहा है कि हथियारों की है के पंचायत चुनाव से पहले ऑर्डर पर तैयार की जा रही थी। दरअसल आपको बता दें कि पूरा मामला जनपद शामली की सदर कोतवाली का है जहां पर कोतवाली पुलिस ने लीन ऑन 8 मार्ग पर एक पल में चल रही तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है जहां से पुलिस ने 14th मन के बनाए हुए 8 तमंचे आज बने 11 नाम छोटी थी बड़ी वह तमंचा बनाने के उपकरण जैसे आरी प्लास पेचकस वेल्डिंग मशीन आदि उपकरण भी बरामद किए हैं कोतवाली पुलिस ने तमंचा फैक्ट्री के संचालक महबूब को मौके से गिरफ्तार किया है जबकि उसका एक अन्य साथी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। बताया जा रहा है कि तमंचा बनाने का यह काम काफी दिनों से वहां पर चल रहा था जिसके बाद पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी की और तमंचा फैक्ट्री का भंडाफोड़ हुआ बताया जा रहा है कि तमंचा की है खेत आर्डर पर तैयार की जा रही थी और इसके से पंचायत चुनाव में आतंक फैलाने की साजिश थी। पुलिस पूरे प्रकरण की गहनता से जांच कर रही है। साथ ही यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किसके आर्डर पर इतनी भारी मात्रा में तमंचे बनाए जा रहे थे और फैक्ट्री से तमंचे बनाने के बाद कौन-कौन लोग इसकी सप्लाई करते थे। बताया जा रहा है कि तमंचा तैयार होने के बाद बाजार में 4500 से 6000 रुपए तक में बेचा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर ओम प्रकाश चौटाला ने एचडी देवगौड़ा एवं मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा एवं उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

BJP के खिलाफ कांग्रेस का गद्दी छोड़ो अभियान, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा- ट्रस्ट के साथ मिलकर सरकार ने अयोध्या में की चंदा चोरी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले प्रदर्शन और नारेबाजी का दौर शुरू हो गया है। खुद को फिर देश के सबसे...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू कर दिया...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू...

धनबाद जज हत्या मामला, सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।

धनबाद एडिशनल सेशन जज की कथित हत्या का मामला। सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग...

Recent Comments