25.9 C
Meerut
Friday, June 18, 2021
Home शहर और राज्य कोविड शवों की अदला बदली से मचा हड़कंप!

कोविड शवों की अदला बदली से मचा हड़कंप!

मुरादाबाद के एक निजी अस्पताल के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते दो अलग-अलग समुदाय के कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की ईलाज के दौरान हुई मौत के बाद परिजनों को शव देते वक़्त बदल दिए गए, अस्पताल स्टाफ ने कोरोना पॉजिटिव मरीज़ नासिर की मौत के बाद उसके परिजनों को रामप्रसाद का शव सौंप दिया और रामप्रसाद के परिजनों को नासिर का शव सौंप दिया जिसके बाद रामपुर से आए नासिर के परिजनों ने प्रोटोकॉल के मुताबिक नासिर के शव को मुरादाबाद के थाना सिविल लाइन क्षेत्र की शाह बुलाकी साहब की जियारत के पास के कब्रिस्तान में मुस्लिम रीति-रिवाज से दफन कर दिया, वही अस्पताल की तरफ से रामप्रसाद के परिजनों को दिया गया नासिर का शव लेकर जब परिजन दिल्ली रोड के लोको शेड मोक्षधाम पर पहुंचे तो वहां शवों की संख्या ज्यादा होने की वजह से 4 घंटे तक उन्हें प्रतीक्षा करनी पड़ी, जब उनका चिता जलाने का समय आया तो उन्होंने शव उठाकर जैसे ही चिता पर रखना शुरू किया तभी रामप्रसाद के परिजन को ऐसा लगा कि शव काफी हल्का है क्योंकि रामप्रसाद की आयु 61 वर्ष थी और उनका वजन भी काफी था, लेकिन जिस शव को वह लोग रामप्रसाद का शव समझकर चिता पर रख रहे थे वह शब मुश्किल से 40 और 45 किलो के वजन का था और उसका लंबाई भी कम थी, शक होने पर रामप्रसाद के परिजन पवित्र कुमार ने शव का चेहरा खोल कर देख लिया, तब उन्हें विश्वास हो गया कि यह शव तो राम प्रसाद का है ही नहीं, इसके बाद परिजन कॉसमॉस अस्पताल पहुंचे जहां कॉसमॉस अस्पताल के स्टाफ ने रामप्रसाद के परिजनों को कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया तब परिजनों ने डायल 112 पर कॉल कर पुलिस की मदद मांगी, अस्पताल में शव बदलने की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन के साथ ही स्वास्थ विभाग में भी हड़कंप मच गया मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर प्रशांत तिवारी ने जानकारी कर रामपुर से नासिर के परिजनों को कॉल कर बुलवाया और नासिर का शव एंबुलेंस में रखवा कर श्मशान घाट से कब्रिस्तान भिजवाया, अब पुलिस नासिर के स्थान पर कब्र में दफन रामप्रसाद का शव निकलवा कर रामप्रसाद के परिजनों को देगी और नासिर का शव मुस्लिम रीति-रिवाज से उनके परिजन एक बार फिर दफन करेंगे। मौके पर पहुंचे एसडीएम का कहना है कि जांच कराई जा रही है और अस्पताल के जो भी कर्मचारी इसमें जिम्मेदार होंगे उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी. लेकिन इसके साथ ही अब स्वास्थ विभाग और जिला प्रशासन को इस तरह की व्यवस्था करनी पड़ेगी कि आगे कभी इस तरह की घटना की दोबारा न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

शामली: सीओ सिटी ने दी सीएमएस और उनके स्टाफ को धमकी

जनपद शामली में सीओ सिटी द्वारा सीएमएस और उनके स्टाफ को धमकी देने का मामला सामने आया है जहां पर कोविड-19 L2...

पुलिस विभाग की बड़ी चूक आयी सामने, जीजा की जगह सिपाही बनकर ड्यूटी कर रहा था साला

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में पुलिस विभाग की एक बड़ी चूक का खुलासा हुआ है। पिछले कई साल से सिपाही जीजा...

हाईकोर्ट की फटकार का पड़ा असर: रुका अवैध निर्माण कार्य

बात जब सत्ता की आती है तो अधिकारियों की आंखे अपने आप बन्द हो जाती हैं। यानि जिस कानून के लिये आम...

अयोध्या मंडल में सबसे ऊंचा तिरंगा लहराया जिला सुल्तानपुर में

अयोध्या मण्डल के सुल्तानपुर शहर में आस पास के जिलों की तुलना में सबसे ऊंचा तिरंगा फहराया, इसकी पूरी तैयारी और रूप...

Recent Comments