30.4 C
Meerut
Friday, June 18, 2021
Home शहर और राज्य उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 15 जून तक नगर निगम मुरादाबाद के...

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 15 जून तक नगर निगम मुरादाबाद के 256 नालों की तलीझाड़ साफ़ सफ़ाई कराने का दावा

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 15 जून तक नगर निगम मुरादाबाद के 256 नालों की तलीझाड़ साफ़ सफ़ाई कराने का दावा करता है, नगर निगम के इन दावों की पड़ताल करने हमारे संवाददाता ने जब शहर के मुख्य नालों का जब जायज़ा लिया तो नाले पूरी तरह से कुड़े और सिल्ट से लबालब भरे मिले, जबकि नगर निगम अधिकारी मॉनसून के आने से पहले लाखो रुपये के टेंडर जारी कर ठेके पर नालों को साफ़ कराने के दावे कर रहे हैं, लेकिन हक़ीक़त में नाला सफ़ाई के नाम पर हर साल बरसात से पहले बस खानापूर्ति कर थोड़ी बहुत सिल्ट नालों से निकालकर बाहर डाल दी जाती है, जिससे थोड़ी देर की बारिश के बाद शहर की सड़कें जलमग्न हो जाती हैं।

उत्तर प्रदेश का मुरादाबाद पूरी दुनिया में पीतल के नक्काशी वाले सजावटी उत्पादों की वजह से पीतल नगरी के नाम से भी जाना जाता है लेकिन अब इस शहर को बरसात के मौसम में लोग नदी नालों का शहर भी कहने लगे हैं, मुरादाबाद स्मार्ट सिटी में शामिल है, लेकिन नगर निगम अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही की वजह से यहां पर हर साल मॉनसून आने से पहले 15 जून तक 256 सतही व अंडरग्राउंड नालों की तलीझाड़ साफ सफाई के नाम पर लाखों रुपए का बजट पास कर उन नालों को साफ कराने का नगर निगम दावा करता है, लेकिन हकीकत में इन नालों की साफ-सफाई सिर्फ खानापूर्ति के नाम पर ऊपर ऊपर से की जाती, 15 जून के बाद जब मुरादाबाद में बारिश शुरू होती है तो थोड़ी देर की बारिश से ही मुरादाबाद की मुख्य सड़कें और बाजार जलमग्न होकर नदी नालों में तब्दील हो जाते हैं, मुरादाबाद में जब हमारे संवाददाता ने नालों की सफाई की पड़ताल की तो हकीकत में नालों में कहीं कोई सफाई नहीं मिली, स्थानीय लोगों का भी कहना है कि नाला सफाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है, नाला सफ़ाई पर मुरादाबाद के नगर आयुक्त संजय चौहान का कहना है कि नालों की तली झाड़ सफाई की जा रही है कोविड गाइडलाइंस की वजह से यह सफाई अभियान 5 दिन लेट हो सकता है, सफाई तेज़ी से चल रही है।

नगर आयुक्त महोदय यह बयान अपने एयरकंडीशन ऑफिस में बैठ कर दे रहे हैं, अगर नगर आयुक्त ज़मीनी हकीकत जानने नालों के आस पास जाकर वहां हो रही साफ़ सफाई का जायज़ा लें तो उन्हें पता चलेगा कि नालों की सफाई के नाम पर नगर निगम कर्मचारी सिर्फ खानापूर्ति कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

हाईकोर्ट की फटकार का पड़ा असर: रुका अवैध निर्माण कार्य

बात जब सत्ता की आती है तो अधिकारियों की आंखे अपने आप बन्द हो जाती हैं। यानि जिस कानून के लिये आम...

अयोध्या मंडल में सबसे ऊंचा तिरंगा लहराया जिला सुल्तानपुर में

अयोध्या मण्डल के सुल्तानपुर शहर में आस पास के जिलों की तुलना में सबसे ऊंचा तिरंगा फहराया, इसकी पूरी तैयारी और रूप...

अब एक मच्छर के काटने से हो सकती है आपकी कामेच्छा में वृद्धि; जानें क्या हो सकते हैं इसके परिणाम?

वियाग्रा से संक्रमित हजारों आनुवंशिक रूप से संशोधित मच्छर चीन के वुहान में एक उच्च सुरक्षा वाली प्रयोगशाला से संभावित रूप से...

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले की सीमा विस्तार की तैयारी तेज

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले की सीमा विस्तार की तैयारी तेज हो गई है। तत्कालीन डीएम आदित्य सिंह के बाद नवनियुक्त डीएम...

Recent Comments