27 C
Meerut
Saturday, October 16, 2021
Home देश क्या है सोने की हॉलमार्किंग: आपके पुराने गहनों का क्या होगा?

क्या है सोने की हॉलमार्किंग: आपके पुराने गहनों का क्या होगा?

सरकार ने मंगलवार को 16 जून से सोने के आभूषणों की अनिवार्य हॉलमार्किंग के चरणबद्ध कार्यान्वयन की घोषणा की। पहले चरण में, केवल 256 जिलों में सोने की हॉलमार्किंग उपलब्ध होगी और 40 लाख रुपये से अधिक वार्षिक कारोबार वाले जौहरी इसके दायरे में आएंगे।

क्या है सोने की हॉलमार्किंग?

भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस), जो भारत में सोने और चांदी की हॉलमार्किंग योजना संचालित करता है, हॉलमार्किंग को “कीमती धातु की वस्तुओं में कीमती धातु की आनुपातिक सामग्री का सटीक निर्धारण और आधिकारिक रिकॉर्डिंग” के रूप में परिभाषित करता है। तो, यह कीमती धातु की वस्तुओं की “शुद्धता या सुंदरता की गारंटी” है।

गोल्ड हॉलमार्किंग एक शुद्धता प्रमाणन है जो अब तक स्वैच्छिक रहा है। हॉलमार्किंग का मतलब है कि सोने को अब मानक दरों पर बेचा जा सकता है और हॉलमार्क के मुकाबले सोने का एक समान मूल्यांकन होगा। सोने के आभूषण खरीदते समय लोगों को धोखाधड़ी से बचाया जाएगा और शुद्धता की गारंटी होगी।

सरकार का कहना है कि “सोने के आभूषणों की विश्वसनीयता, ग्राहकों की संतुष्टि और उपभोक्ता संरक्षण को बढ़ाने के लिए” हॉलमार्किंग की आवश्यकता है। अभी तक करीब 40 फीसदी सोने के आभूषणों पर हॉलमार्क था।

उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को ट्वीट किया, “ग्राहकों की बेहतर सुरक्षा और संतुष्टि के लिए हमारी सरकार के प्रयास को जारी रखते हुए, 256 जिलों में अनिवार्य हॉलमार्किंग 16 जून से लागू की जाएगी। अगस्त 2021 तक कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा।”

सरकार का कहना है कि घड़ियों, फाउंटेन पेन और कुंदन, पोल्की और जड़ाऊ के आभूषणों में इस्तेमाल होने वाले सोने के लिए हॉलमार्किंग अनिवार्य नहीं होगी।

सरकार ने कहा, “आभूषण उपभोक्ताओं से हॉलमार्क के बिना पुराने सोने के आभूषणों को वापस खरीदना जारी रख सकते हैं,” उन्होंने कहा कि पुराने आभूषणों को पिघलाकर नए आभूषणों में तैयार करने के बाद, यदि संभव हो तो हॉलमार्क किया जा सकता है।

उपभोक्ता मामलों के विभाग के अनुसार, “भारत सरकार की व्यापार नीति के अनुसार आभूषणों का निर्यात और पुन: आयात – अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों के लिए आभूषण, सरकार द्वारा अनुमोदित बी 2 बी घरेलू प्रदर्शनियों के लिए आभूषणों को अनिवार्य हॉलमार्किंग से छूट दी जाएगी।”

दिल्ली के सभी सात जिलों में सोने के गहनों की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी।

उत्तर प्रदेश: आगरा, इलाहाबाद, बरेली, बदायूं, देवरिया, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, मथुरा, कानपुर नगर, लखनऊ, मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, गौतमबुद्ध नगर में उपलब्ध होगी। सहारनपुर, शाहजहांपुर और वाराणसी।

अन्य राज्यों में, निम्नलिखित जिलों में सोने के आभूषणों की हॉलमार्किंग उपलब्ध होगी:

मध्य प्रदेश: भोपाल, देवास, ग्वालियर, रीवा, इंदौर, जबलपुर, रतलाम, सतना।

राजस्थान: अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, बीकानेर, हनुमानगढ़, जयपुर, झुंझुनू, जोधपुर, कोटा, नागौर, पाली, सवाई माधोपुर, सिरोही, सीकर, श्रीगंगानगर, चुरू, उदयपुर, बांसवाड़ा

महाराष्ट्र: अकोला, अमरावती, धुले, लातूर, नांदेड़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, औरंगाबाद, नागपुर, पालघर, रायगढ़, अहमदनगर, सोलापुर, जलगांव, नासिक, सतारा, सांगली, कोल्हापुर, ठाणे, पुणे, मुंबई उप, मुंबई शहर

गुजरात: अमरेली, भावनगर, बोटाद, द्वारका, सोमनाथ, जामनगर, मेहसाणा, मोरबी, पाटन, पोरबंदर, वलसाड, आनंद, भरूच, खेड़ा, सुरेंद्रनगर, बनासकांठा, जूनागढ़, कच्छ, नवसारी, वडोदरा, राजकोट, सूरत, अहमदाबाद।

हरियाणा: अंबाला, भिवानी, फरीदाबाद, फतेहाबाद, गुड़गांव, हिसार, जींद, कैथल, करनाल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, रोहतक, सिरसा, सोनीपत, यमुना नगर

उत्तराखंड: देहरादून, पिथौरागढ़

पंजाब: अमृतसर, बरनाला, भटिंडा, फतेहगढ़ साहिब, होशियारपुर, जालंधर, कपूरथला, लुधियाना, मानसा, पठानकोट, पटियाला, संगरूर

हिमाचल प्रदेश: हमीरपुर, कांगड़ा, मंडी

जम्मू और कश्मीर: जम्मू और श्रीनगर

आंध्र प्रदेश: श्रीकाकुलम, विजयनगरम, विशाखापत्तनम, पूर्वी गोदावरी, पश्चिम गोदावरी, कृष्णा, गुंटूर, प्रकाशम, नेल्लोर, कडप्पा, कुरनूल, अनंतपुर

कर्नाटक: बेंगलुरु शहरी, तुमकुर, हसन, मांड्या, मैसूर, दक्षिण कन्नड़, शिमोगा, उडुप्पी, दावणगेरे, उत्तर कन्नड़, बेलगाम, धारवाड़, बीजापुर, गुलबर्गा

केरल: अलाप्पुझा, एर्नाकुलम, कन्नूर, कासरगोड, कोल्लम, कोट्टायम, कोझीकोड, मलप्पुरम, पलक्कड़, पठानमथिट्टा, तिरुवनंतपुरम, त्रिशूर, वायनाड

तमिलनाडु: कुड्डालोर, कृष्णागिरी, तिरुवन्नामलाई, विलुप्पुरम, चेन्नई, वेल्लोर, कोयंबटूर, इरोड, तिरुपुर, सेलम, नमक्कल, धर्मपुरी, कन्याकुमारी, तिरुनेलवेली, थूथुकुडी, शिवगंगई, मदुरै, डिंडीगुल, पुदुक्कोट्टई, तिरुचिरापल्ली, करूर,. तंजावुर, कल्लाकुरुची, तेनकासी

तेलंगाना: मंचेरियल, पेद्दापल्ली, वारंगल (ग्रामीण), वारंगल (शहरी), रंगारेड्डी, हैदराबाद, खम्मम

गोवा: उत्तरी गोवा, दक्षिण गोवा

पुदुचेरी

असम: बारपेटा, कछार, कामरूप मेट्रो

त्रिपुरा: उत्तरी त्रिपुरा, पश्चिम त्रिपुरा

बिहार: बक्सर, भागलपुर, भोजपुर, दरभंगा, गया , मुजफ्फरपुर, नालंदा, पटना, रोहतास, समस्तीपुर, सारण, बेगूसराय, नवादा

छत्तीसगढ़: रायपुर, दुर्ग

झारखंड: बोकारो, धनबाद, पूर्वी सिंहभूम ,रांची

ओडिशा: बालासोर, भद्रक, कटक, गंजम, जाजपुर, खोरदा, मयूरभंज, संबलपुर

पश्चिम बंगाल: पुरबा मेदिनीपुर, दार्जिलिंग, बीरभूम, उत्तर परगना, कोचबिहार, पश्चिम बर्धमान, पूबा बर्धमान, कोलकाता, पुरुलिया, दक्षिण]परगना, बांकुरा, हुगली, उत्तर दिनाजपुर, हावड़ा, दक्षिण दिनाजपुर, मालदा, मुर्शिदाबाद, नादिया, पश्चिम मेदिनीपुर

बीआईएस मानकों के अनुसार, सोने की शुद्धता के आधार पर हॉलमार्किंग की तीन श्रेणियां हैं- 22 कैरेट, 18 कैरेट और 14 कैरेट। हालांकि, मंत्रालय ने 15 जून को घोषणा की कि हॉलमार्किंग के लिए अतिरिक्त 20, 23 और 24 कैरेट के सोने की भी अनुमति होगी।

मंत्रालय ने आगे कहा कि ज्वैलर्स उपभोक्ताओं से हॉलमार्क के बिना पुराने सोने के आभूषण वापस खरीदना जारी रख सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर ओम प्रकाश चौटाला ने एचडी देवगौड़ा एवं मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा एवं उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

BJP के खिलाफ कांग्रेस का गद्दी छोड़ो अभियान, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा- ट्रस्ट के साथ मिलकर सरकार ने अयोध्या में की चंदा चोरी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले प्रदर्शन और नारेबाजी का दौर शुरू हो गया है। खुद को फिर देश के सबसे...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू कर दिया...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू...

धनबाद जज हत्या मामला, सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।

धनबाद एडिशनल सेशन जज की कथित हत्या का मामला। सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग...

Recent Comments