33.9 C
Meerut
Sunday, September 19, 2021
Home शहर और राज्य लोधेश्वर महादेवा में जलाभिषेक को उमड़ा श्रृद्धालुओं का सैलाब, शिव भक्तों की...

लोधेश्वर महादेवा में जलाभिषेक को उमड़ा श्रृद्धालुओं का सैलाब, शिव भक्तों की आस्था के आगे नतमस्तक हुआ जिला प्रशासन, खोले कपाट

उत्तर भारत के प्राचीन महाभारत कालीन शिवतीर्थों में शामिल लोधेश्वर महादेवा में आज सावन माह के पहले सोमवार के दिन हर हर बम बम की धूम है। दूरदराज से शिवभक्त महादेवा पहुंचे हैं और पूरे विधि-विधान से पूजन-अर्चन कर महादेव के दरबार में माथा टेककर अपनी मनोकामना पूरी होने की प्रार्थना कर रहे हैं। आज यहां हजारों की संख्या में भक्त पहुंचकर जलाभिषेक कर रहे हैं। यहां कोविड 19 के चलते पहले जिला प्रशासन ने लोधेश्वर महादेवा के कपाट भी बंद करने का फैसला लिया था, लेकिन हजारों शिव भक्तों की आस्था के आगे जिला प्रशासन भी नतमस्तक हो गया और कपाट खोलने का फैसला लिया। जिला प्रशासन ने यहां पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था की है।

लोधेश्वर महादेवा तीर्थ जिला मुख्यालय से करीब 35 किलोमीटर दूर रामनगर तहसील मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर लोधौरा गांव में स्थित है। महादेव के दर्शन में भक्तों की सुविधा के लिए बैरीकेडिंग कराई गई हैं। कतारबद्ध श्रद्धालु मंदिर के पूरब वाले द्वार से मंदिर में प्रदेश कर जलाभिषेक के बाद दक्षिण वाले द्वार से निकल रहे हैं। मंदिर के पश्चिम में बने विशाल सरोवर में स्नान करके भी ज्यादातक श्रद्धालु जलाभिषेक करते हैं इसलिए तालाब में भी जाल लगाया गया है। भक्तों के सैलाब के बीच मध्यरात्रि के बाद कपाट खुलते ही शिवभक्त देवाधिदेव महादेव का जलाभिषेक कर रहे हैं।

दरअसल कोविड-19 के चलते सावन मास में लगने वाले महादेवा मेला पर प्रशासन ने पाबंदी लगाई है। पाबंदी के चलते जिला प्रशासन ने पहले लोधेश्वर महादेवा के कपाट भी बंद करने का फैसला लिया था, लेकिन हजारों शिव भक्तों की आस्था के आगे जिला प्रशासन भी नतमस्तक हो गया और कपाट खोलने का फैसला लिया। दरअसल यहां हजारों की संख्या में महादेवा पहुंचे शिवभक्त दर्शन और जलाभिषेक की जिद को लेकर अड़ गये थे। जिसके बाद देर रात 12:35 बजे प्रशासन को महादेवा मंदिर के कपाट खोलने पड़े। हालांकि लोधेश्वर महादेवा का मेला नहीं लगा है और दुकानें खोलने की अनुमति भी जिला प्रशासन ने नहीं दी है।

महादेवा मंदिर के मठ पुजारी आदित्य महाराज जी के अनुसार सावन का शिवभक्तों के लिए बड़ा महत्त्व है। इस दिन भगवान शिव हर शिवलिंग में विराजते हैं। इस दिन बेलपत्र, धतूरा, भांग, मदार के फूल और शमी की लकड़ी से भगवान का पूजन किया जाता है। सावन में महादेव के दर्शन के लिए यहां दो-तीन प्रदेशों से श्रद्धालु यहां बाते हैं और अपनी मनोकामना पूरी होने की प्रार्थना करते हैं। पुजारी ने बताया कि सावन भर मंदिर में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था रहती है। मंदिर के आसपास बैरिकेटिंग के साथ-साथ भरी पुलिस बल तैनात रहता है। पुजारी ने बताया कि पहले पहले लोधेश्वर महादेवा के कपाट बंद करने का फैसला लिया गया था, लेकिन अब यहां शिवभक्तों के आगे नतमस्तक होकर यहां कपाट खोल दिये गए हैं।

लोधेश्वर महादेवा में जलाभिषेक के लिए जिले के अलावा लखनऊ, बहराइच, कानपुर, उन्नाव, उरई, जालौन समेत कई जिलों से बड़ी तादात में शिव भक्त आए हैं। श्रृद्धालुओं ने बताया कि वह हर सावन में एक बार लोधेश्वर के दर्शन करने जरूर आते हैं। यहां आकर उनको बहुत खुशी मिलती है। लोधेश्वर महादेव की कृपा से उनकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। दर्शन के लिए दूर-दूर से आए श्रद्धालु उसके पास से बेल पत्र, धतूरा, भांग, मदार का फूल और बेर समेत तमाम सामग्री लेकर भोलेनाथ का जलाभिषेक करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

तीसरे मोर्चे के गठन को लेकर ओम प्रकाश चौटाला ने एचडी देवगौड़ा एवं मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

इनेलो सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा एवं उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से की मुलाकात

BJP के खिलाफ कांग्रेस का गद्दी छोड़ो अभियान, प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा- ट्रस्ट के साथ मिलकर सरकार ने अयोध्या में की चंदा चोरी

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले प्रदर्शन और नारेबाजी का दौर शुरू हो गया है। खुद को फिर देश के सबसे...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू कर दिया...

त्रिपुरा में होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान राज्य की सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए तृणमूल कांग्रेस ने जोर लगाना शुरू...

धनबाद जज हत्या मामला, सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।

धनबाद एडिशनल सेशन जज की कथित हत्या का मामला। सुप्रीम कोर्ट ने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मामले को मॉनिटरिंग...

Recent Comments